टॉप न्यूज़बिहारराज्यलोकल न्यूज़

केदारनाथ चौधरी के निधन पर विद्यापति सेवा संस्थान ने शोक जताया

दरभंगा@भारत वीकली: मैथिली सिनेमा के स्वप्नद्रष्टा एवं वरिष्ठ साहित्यकार केदारनाथ चौधरी के निधन पर विद्यापति सेवा संस्थान ने वृहस्पतिवार को शोक जताया एवं उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। संस्थान के महासचिव डॉ बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने अपने संदेश में उन्हें मिलनसार स्वभाव वाला मिथिला-मैथिली के विकास का हितचिंतक बताया। उन्होंने कहा कि मैथिली की पहली फिल्म ममता गाबय गीत के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे चुके केदारनाथ चौधरी बहुगुण संपन्न व्यक्तित्व थे।
मैथिली अकादमी के पूर्व अध्यक्ष पं कमलाकांत झा ने कहा कि मैथिली साहित्य के सृजन एवं फिल्म निर्माण के क्षेत्र में अपना उत्कृष्ट योगदान देने वाले केदारनाथ चौधरी कला के अद्भुत पारखी होने के साथ ही कर्तव्यनिष्ठ समाजसेवी थे। अपने कृतित्व एवं व्यक्तित्व के लिए वे हमेशा जीवंत बने रहेंगे।
प्रो जीवकांत मिश्र ने उन्हें मैथिली साहित्य एवं सिनेमा के विकास के लिए सतत चिंतनशील रहने वाला हितचिंतक बताया। मणिकांत झा ने उन्हें युगद्रष्टा व त्यागी पुरुष बताते हुए कहा कि मिथिला में साहित्य एवं कला संस्कृति का विकास उनके जीवन का एकमात्र मकसद था।
मीडिया संयोजक प्रवीण कुमार झा ने उन्हें संवेदनशील साहित्यकार बताते हुए कहा कि प्रबोध साहित्य सम्मान से सम्मानित केदारनाथ चौधरी मैथिली में फिल्म निर्माण के सूत्रधार थे। मैथिली साहित्य एवं कला संस्कृति के क्षेत्र के विकास में अपना सम्पूर्ण जीवन समर्पित करने वाले केदारनाथ चौधरी ने कार्य की गुणवत्ता को आजीवन जीवंत बनाये रखा। शोक संवेदना व्यक्त करने वाले अन्य लोगों में महात्मा गाँधी शिक्षण संस्थान के चेयरमैन हीरा कुमार झा, हरिश्चंद्र हरित, डॉ गणेश कांत झा, विनोद कुमार झा, डॉ उदय कांत मिश्र, डॉ महानंद ठाकुर, दुर्गानंद झा, आशीष चौधरी, नवल किशोर झा, पुरुषोत्तम वत्स आदि शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button