बिहारराज्यलोकल न्यूज़

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ साहित्यिक आयोजन पर भी रहेगा जोर

भारत वीकली संवाददाता, दरभंगा।

कार्तिक धवल त्रयोदशी से पूर्णिमा तक शहर के एमएलएसएम कॉलेज परिसर में आयोजित होने वाले मिथिला विभूति पर्व के 51वें समारोह के दौरान सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ-साथ साहित्यिक आयोजन पर मुख्य फोकस रहेगा।

समारोह के पहले दिन के कार्यक्रम के दौरान विद्यापति सेवा संस्थान की मुख्य पत्रिका ‘अर्पण’ का विमोचन किया जाएगा। वरिष्ठ साहित्यकार डॉ महेंद्र नारायण राम एवं प्रवीण कुमार झा के संपादन में इस वर्ष प्रकाशित होने वाली यह पत्रिका स्मृति विशेषांक होगी। इसमें संस्थान के दिवंगत तीनों अध्यक्ष क्रमशः डॉ ब्रजकिशोर वर्मा मणिपद्म, आचार्य सुरेंद्र झा सुमन एवं पं चंद्रनाथ मिश्र अमर के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर केंद्रित विशेष आलेखों के साथ ही विगत एक वर्ष के दौरान दिवंगत हुए मिथिला के सपूतों के स्मृति आलेखों का संकलन प्रकाशित किया जाएगा।

जानकारी देते हुए विद्यापति सेवा संस्थान के महासचिव डॉ बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने बताया कि दूसरे दिन पूर्वाह्न वेला में वरिष्ठ साहित्यकार मणिकांत झा के संयोजन में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में ‘मिथिलाक गाम’ विषय पर करीब 100 से अधिक प्रतिभागी मिथिला के गांव की ऐतिहासिक, भौगोलिक, सामाजिक, साहित्यिक एवं आर्थिक यथा स्थितियों पर विस्तार से चर्चा करेंगे। जबकि इन आलेखों को पुस्तकाकार में संग्रहित कर प्रकाशित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस पुस्तक में मिथिला के 100 से अधिक गांवों के बारे में विस्तृत जानकारी होगी। जो मिथिला के विभिन्न गांवों पर केंद्रित अमूल्य साहित्यिक दस्तावेज होगा।

उन्होंने बताया कि दूसरे दिन संध्या वेला में भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। वरिष्ठ कवि एवं साहित्यकार हरिश्चंद्र हरित के संयोजन में आयोजित होने वाले कवि सम्मेलन में देश के विभिन्न हिस्सों से आए चार दर्जन से अधिक कवि एवं कवियित्री अपनी रचनाओं का पाठ करेंगे। इसमें भाग लेने वाले कवियों में उदय चंद्र झा विनोद, बुद्धिनाथ झा, डॉ चंद्रमणि, वैद्यनाथ मिश्र विमल, अयोध्या नाथ चौधरी, फूलचंद झा प्रवीण, श्याम बिहारी सरस, रामकुमार, मणिकांत झा, नवल श्री पंकज, राजीव रंजन, युवराज, सिद्धार्थ सौरभ, कुशेश्वर राउत, रामसेवक ठाकुर, महेश डखरामी , राजनाथ पंडित, मिथिलेश मिसिदा, आभा झा, सोनी चौधरी, पूनम झा मैथिली, सविता झा सोनी पूनम झा सुधा, निवेदिता झा, शेफालिका झा, मुन्नी मधु, अंजली कुमारी, झा कल्याणी, श्लोक वंदना, श्रेया भारद्वाज आदि ने अपने आगमन की स्वीकृति दे दी है। उन्होंने बताया कि कवि सम्मेलन के दौरान हरिश्चंद्र हरित एवं प्रवीण कुमार झा के संपादन में विगत वर्ष स्वर्ण जयंती समारोह में वरिष्ठ कवि प्रो अशोक कुमार मेहता के संयोजन में आयोजित कवि सम्मेलन में विभिन्न कवियों द्वारा मंच से पठित कविताओं के साथ ही इस वर्ष मंच से पढ़ी जाने वाली कविताओं का संग्रह भी प्रकाशित किया जा रहा है। इसका विमोचन कवि सम्मेलन के दौरान किया जाएगा। कवि सम्मेलन के बाद श्याम भास्कर के निर्देशन में मैथिली नाटक ‘विद्यापति’ का मंचन किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button