बिहारराज्यलोकल न्यूज़

लगातार तीन दिनों तक बहेगी साहित्य, संस्कृति और गीत-संगीत की सरिता

51वां मिथिला विभूति पर्व समारोह 25 से

दरभंगा ,भारत वीकली संवाददता । विद्यापति सेवा संस्थान के तत्वावधान में 25 से 27 नवम्बर तक आयोजित होने वाले मिथिला विभूति पर्व के 51वें समारोह की विधिवत शुरूआत 25 नवम्बर की प्रातः वेला मे शोभायात्रा से होगी। शोभा यात्रा प्रभारी विनोद कुमार झा एवं प्रो विजय कांत झा इस शोभा यात्रा की तैयारी को अंतिम रूप देने में लगे हैं। विनोद कुमार झा ने बताया कि शोभायात्रा प्रात: 9 बजे रामबाग से प्रारंभ होगी और बड़ाबाजार, टावर चौक, भगत सिंह चौक, मिर्जापुर चौक, इन्दिरा गांधी चौक, शास्त्री चौक, रेलवे स्टेशन होते हुए विद्यापति चौक पहुंचेगी। विद्यापति चौक स्थित महाकवि विद्यापति की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने उपरांत मिथिला के पारंपरिक परिधान में शोभा यात्रा के साथ समारोह की विधिवत शुरुआत होगी। तदुपरांत आकाशवाणी रोड होते हुए ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय परिसर, कामेश्वर सिंह दरभंगा विश्वविद्यालय परिसर, केंद्रीय पुस्तकालय होते हुए श्यामा मंदिर पहुंचेगी । इस क्रम में इस मार्ग में पड़ने वाले मिथिला विभूतियों क्रमशः आचार्य सुरेंद्र झा ‘सुमन’, भोगेंद्र झा, महाराज महेश ठाकुर, महाराज रमेश्वर सिंह, ललित नारायण मिश्र, डा भीमराव अम्बेडकर, महाराज कामेश्वर सिंह, बाबा नागार्जुन आदि की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया जाएगा।
पहले दिन के कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान देने वाले तीन दर्जन से अधिक विशिष्ट व्यक्तियों को मिथिला विभूति सम्मानोपाधि से नवाजा जाएगा। कार्यक्रम के पहले दिन डा महेंद्र नारायण राम एवं प्रवीण कुमार झा के संयुक्त संपादन में प्रकाशित हो रही विद्यापति सेवा संस्थान की मुख पत्रिका ‘अर्पण’ के स्मृति विशेषांक का लोकार्पण भी किया जाएगा। इस दिन मैथिली नाटक विद्यापति का मंचन लोगों के विशेष आकर्षण का केंद्रबिंदु बनेगा।
समारोह के दूसरे दिन वरिष्ठ साहित्यकार मणिकांत झा के संयोजन में ‘मिथिलाक गाम’ विषयक राष्ट्रीय सेमिनार एवं हरिश्चंद्र हरित के संयोजन में भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। सेमिनार प्रभारी मणिकांत झा ने बताया कि सेमिनार के लिए प्रस्तावित विषय पर चार दर्जन से अधिक आलेख प्राप्त हुए हैं, जिन्हें पुस्तकाकार किए जाने का कार्य अंतिम चरण में है और समारोह के दूसरे दिन एमएलएसएम कॉलेज के सेमिनार कक्ष में आयोजित कार्यक्रम में इस पुस्तक का लोकार्पण किया जाएगा।
कवि सम्मेलन के बारे में जानकारी देते हुए हरिश्चंद्र हरित ने बताया कि समारोह के दूसरे दिन संध्या बेला में आयोजित कवि-गोष्ठी में विगत वर्ष स्वर्ण जयंती समारोह के मंच से पठित एवं इस वर्ष पढ़ी जाने वाली कविताओं का संग्रह ‘काव्यार्पण’ का लोकार्पण करने उपरांत भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। जिसमें देश के विभिन्न हिस्सों एवं नेपाल से आए तीन दर्जन से अधिक कवि एवं कवियत्री अपनी रचनाओं के माध्यम से दर्शकों का मनोरंजन करेंगे।
समारोह के तीसरे दिन रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के संयोजक पं कमलाकांत झा ने बताया कि रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम में राइजिंग स्टार मैथिली ठाकुर और अंतरराष्ट्रीय हास्य कवि मिथिला के लाल शंभु शिखर आकर्षण के केंद्र में होंगे। जबकि रंजना झा, डा ममता ठाकुर, पूनम मिश्रा, जूली झा, सोनी चौधरी, पं कुंज बिहारी मिश्र, राम बाबू झा, माधव राय, विकास झा, कृष्ण कुमार कन्हैया, दुखी राम रसिया, दीपक कुमार झा, नीरज कुमार झा, केदारनाथ कुमर, सुषमा झा, अनुपमा झा, खुशबू मिश्रा, मशहूर शंखवादक विपिन मिश्र, नटराज डांस एकेडमी, सृष्टि फाउंडेशन एवं धरोहर सांस्कृतिक मंच आदि की प्रस्तुति लोगों का भरपूर मनोरंजन करेगा।
संस्थान के महासचिव डॉ बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने बताया कि इस बार तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन पूर्व की भांति एमएलएसएम काॅलेज परिसर में किया जायेगा। जबकि इस ऐतिहासिक आयोजन का उद्घाटन करने के लिए राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, बिहार के राज्यपाल, अनेक केन्द्रीय मंत्री सहित नेपाल के पूर्व राष्ट्रपति डॉ रामवरण यादव, पूर्व उप राष्ट्रपति परमानन्द झा, सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव को आमंत्रित किया गया है। कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए बिहार विधान परिषद के सभापति देवेश चंद्र ठाकुर, बिहार सरकार के काबीना मंत्री संजय झा, विजय कुमार चौधरी, डॉ अशोक कुमार चौधरी, ललित कुमार यादव, मदन सहनी, पूर्व मंत्री जीवेश मिश्र व डॉ. राम प्रीत पासवान, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, पूर्व केंद्रीय मंत्री पद्मश्री डॉ. सीपी ठाकुर एवं प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा, लोकसभा सांसद डॉ. गोपाल जी ठाकुर, डॉ. अशोक कुमार यादव, राज्य सभा सांसद विवेक ठाकुर व‌ फैयाज अहमद, नगर विधायक संजय सरावगी, बेनीपुर विधायक डॉ विनय कुमार चौधरी, केवटी विधायक डॉ मुरारी मोहन झा, बिस्फी के विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल, पूर्व विधान पार्षद डॉ. दिलीप कुमार चौधरी, अलीनगर के विधायक डॉ मिश्री लाल यादव, दरभंगा के जिला पदाधिकारी राजीव रौशन आदि ने अपनी सहमति प्रदान कर दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button